Subhash : Ek Khoj

Rajendra Mohan Bhatnagar

Availability: In stock

Seller: KGPBOOKS

Qty:
595.00 536 +


  • Year: 2013

  • Binding: Hardback

  • Publisher: Kitabghar Prakashan

  • ISBN No: 978-81-89859-98-5

आज भी वह प्रश्न अपनी जगह पर है और प्रायः तब तक रहेगा जब तक उसका हल नहीं हो जाता कि सुभाषा द्वितीय विश्व समर के अंत हो जाने पर हवाई दुर्घटना में गोलोकवासी नहीं हुए तो कहां गए? क्यों शाहनवाज खां और खोसला आयोग की रिपोर्ट रद्द हुई? क्यों यह प्रश्न ठंडे बस्ते मं डालने की साजिश चलती रही? इसके पीछे कौन लोग थे और हैं? अब मैंने यह जानना चाहा है कि उन पर क्या हो रहा है? इस दृष्टि से मैंने भारत-भ्रमण किया। भारत के अनेक महानगरों, नगरों आदि का दौरा किया। उनमंे वे नगर विशिष्ट थे, जिनका संबंध आज भी नेताजी से है। अनेक स्थानों पर मेरे व्याख्यान हुए।
अंत में प्रायः मुझसे यह प्रश्न किया गया कि क्या सुभाषा की मृत्यु हवाई दुर्घटना से जापान जाते समय हुई थी? कतिपय जगह यह थी पूछा गया कि क्यों अनेक बार नेताजी के जीवित होने और भारत में प्रकट होने का प्रसंग सुखर््िायों में रहा? इसमें कितना सत्य है? मैंने अपने व्याख्यानों में नेताजी की मृत्यु की चर्चा कहीं भी नहीं की थी। फिर भी श्रोताओं की रुचि इस प्रसंग में बराबर सामने आती रही। 
आइए, अब इस जटिल प्रश्न पर हम और आप आमने-सामने बैठें और इस बहस को तब तक जारी रखें, जब तक किसी तह तक नहीं पहुंच जाएं। 
—राजेन्द्रमोहन भटनागर

Rajendra Mohan Bhatnagar

राजेन्द्रमोहन भटनागर
प्रख्यात साहित्यकार, विचारक और शिक्षाविद डॉ. राजेन्द्रमोहन भटनागर डॉ० लोहिया के 'रामायण-मेले' से भी जुड़े रहे और उनकी पत्रिका 'जन' में भी छपते रहे । जे०पी० और लोहिया से उनके व्यक्तिगत संबंध रहे ।
प्रमुख प्रकाशित साहित्य : 'बाबा साहब अम्बेडकर', 'डॉ० लोहिया', 'क्रांतिकारी लोहिया', 'गोरादेवी' आदि (जीवनी) ० 'व्यावहारिक लोकतंत्र', 'स्वतंत्रता संग्राम की कहानी' (3 भाग), 'चुनौती', 'बहुएँ जल रही हैं', ‘बलात्कार क्यों', 'साम्यवाद का भारतीयकरण', 'गरीबी हटाओ', 'लोहिया का जीवन-दर्शन', 'डॉ० अम्बेडकर : चिंतन और विचार', 'छात्र-आंदोलन : समस्या और समाधान', 'दंगे क्यों', 'अब बहुएँ नहीं जलेंगी', शिक्षायतन', 'समता, स्वतंत्रता और समाज' आदि (विचार-साहित्य)
पुरस्कार : राष्ट्रीय तथा प्रांतीय स्तर पर अनेक पुरस्कार-राजस्थान साहित्य अकादमी का सर्वोच्च मीरा पुरस्कार और विशिष्ट साहित्यकार सम्मान, महाराणा कुंभा पुरस्कार, घनश्यामदास सराफ सर्वोत्तम साहित्य पुरस्कार, नाहर सम्मान, साहित्य पुरस्कार प्रभृति ।

Scroll