Ved Kya Hain ?

Vishv Nath Gupta

Availability: In stock

Seller: KGPBOOKS

Qty:
120 + 50.00


  • Year: 2016

  • Binding: Hardback

  • Publisher: Surabhi Prakashan

  • ISBN No: 9789380631592

पुस्तक के प्रारम्भ में यह बताने की कोशिश की गई है कि वेद का अर्थ क्या है तथा वेदों का निर्माण कब हुआ । फिर चारों वेदों—ऋग्वेद, यजुर्वेद, सामवेद और अथर्ववेद के बारे में अलग-अलग बताया है कि उनमें से प्रत्येक में क्या-क्या है। इसके साथ ही यह भी बताया है की प्रत्येक वेद के चार भाग हैं —संहिता, ब्राह्मण, आरण्यक और उपनिषद । फिर इन चारों भागों के बारे में विस्तृत चर्चा की गयी है।
इसके उपरांत वेदांगों के बारे में जानकारी दी गयी है । वेदांग छह हैं — शिक्षा, कल्प, व्याकरण, निरुक्त, ज्योतिष और छंदशास्त्र । इन छह वेदांगों के बारे में पुस्तक में सविस्तार चर्चा की गयी है । 
चारों वेदों के आलावा चार उपवेद भी हैं । ये हैं—आयुर्वेद, धनुर्वेद, गंधर्व वेद तथा स्थापत्य वेद । इनके बारे में भी आवश्यक जानकारी पुस्तक में दी गयी है ।

Vishv Nath Gupta

विश्वनाथ गुप्त
जन्म: 16 मई, 1935, शेखावाटी (राजस्थान) के अलसीसर गाँव में
शिक्षा: बी. कॉम.
लेखन कार्य की शुरुआत 1952 से 
1958 से 1989 तक कुछ बड़ी निजी कंपनियों में महत्त्वपूर्ण पदों पर कार्य करने के उपरांत स्वतंत्र लेखन और पत्रकारिता की शुरुआत। देश की प्रमुख पत्र-पत्रिकाओं में बाल- साहित्य, टी. वी., फिल्म, सामाजिक-आर्थिक विषयों पर हिंदी और अंग्रेज़ी में लेखन। आकाशवाणी और दूरदर्शन से भी नाटकों, वार्ताओं तथा बाल-साहित्य की रचनाओं का प्रसारण
प्रकाशित पुस्तकें -
ग़ज़ल-संग्रह: ‘भीड़ में अकेला’ ०  बाल उपन्यास: ‘बहादुरी का भूत’, ‘पिंकू के कारनामे’ (हिंदी और पंजाबी), ‘खोज’, ‘आज़ादी के दीवाने’ तथा ‘दो अँगूठियाँ’ ०  बाल कविता-गीत-संग्रह: ‘बंदर का विवाह’, ‘मम्मी-पापा कितने अच्छे’, ‘एक हमारा होगा स्वर’, ‘पढ़ो-गुनगुनाओ’ (हिंदी अकादमी, दिल्ली से पुरस्कृत) तथा ‘भारत के बच्चे’ ०  बाल कहानी-संग्रह: ‘देश-विदेश की लोककथाएँ’, ‘पौराणिक बालकथाएँ’, ‘मज़ेदार कहानियाँ’, ‘गाँव की कहानियाँ’, ‘सरस कथाएँ’, ‘रोचक कहानियाँ’, ‘जीवन-विकास की प्रेरक कहानियाँ’, ‘पशु-पक्षियों की कहानियाँ’ (1 और 2), ‘सीख और ज्ञान की कहानियाँ’, ‘चाट के चटकारे’, ‘बादलों का खज़ाना’, ‘बुढ़िया, बंदर और दूध’ ०  विविध: ‘नए ज्ञान की अनोखी बातें’, ‘सपनों को साकार किया’, ‘महान् गणितज्ञ आर्यभट’, ‘आचार्य चाणक्य’, ‘सम्राट् अशोक’, ‘सम्राट् चंद्रगुप्त मौर्य’, ‘भारत में पंचायती राज’ तथा ‘सूचना का अधिकार’
पुरस्कार/सम्मान: हिंदी अकादमी, दिल्ली से बाल-साहित्य पुरस्कार और अंतर्राष्ट्रीय विश्व शांति प्रबोधक महासंघ द्वारा राष्ट्रीय हिंदी-सेवी सहस्राब्दी सम्मान

Scroll