Manjul Bhagat : Samagra Katha Sahitya-2

Kamal Kishore Goyenka

Availability: In stock

Seller: KGPBOOKS

Qty:
950.00 808 + Free Shipping


  • Year: 2013

  • Binding: Hardback

  • Publisher: Kitabghar Prakashan

  • ISBN No: 978-81-7016-641-2

Kamal Kishore Goyenka

कमलकिशोर गोयनका 
प्रेमचंद के जीवन विचार तथा साहित्य के अनुसंधान एवं आलोचना के लिए आधी शताब्दी अर्पित करने वाले देश-विदेश में 'प्रेमचंद-विशेषज्ञ' के रूप में विख्यात; प्रेमचंद पर 25 पुस्तकें तथा अन्य हिंदी साहित्यकारों पर 23 पुस्तकों का प्रकाशन; कुछ प्रमुख पुस्तकें-'प्रेमचंद के उपन्यासों का शिल्प-विधान' 'प्रेमचद : विश्वकोश' (खंड-2), 'प्रेमचंद का अप्राप्य साहित्य' (खंड-2 ) , 'प्रेमचंद : चित्रात्मक जीवनी', 'प्रेमचंद  : कहानी रचनावली' (खंड-6), 'प्रेमचंद : अनछुए प्रसंग', 'प्रेमचंद : वाद, प्रतिवाद और संवाद', 'गांधी : पत्रकारित के प्रतिमान', 'हिंदी का प्रवासी साहित्य' इत्यादि

Scroll