Dr. Ambedkar : Chintan Aur Vichaar

Rajendra Mohan Bhatnagar

Availability: In stock

Seller: KGPBOOKS

Qty:
320.00 288 + Free Shipping


  • Year: 2017

  • Binding: Hardback

  • Publisher: Jagat Ram & Sons

  • ISBN No: 9788188125425

डॉ० अम्बेडकर : चिंतन और विचार
प्रवंचित, दलित, विसंगठित, शोषित और पीडित जन-जन के जननायक निर्वासित और बहिष्कृत जनता के प्रणधन  महामहिम डॉ. अम्बेडकर की वैचारिक भूमिका ज्ञान-विज्ञान की अन्तश्वेतना और जीवन-व्यवहार की नैसर्गिक पृष्ठभूमि एक ऐसे दिव्य अध्याय का प्रारंभ है, जिससे सर्त्स समाज में नवजीवन का संचार हुआ और जिससे जीवन-धर्म की पृनर्स्थापना संभव हो सकी ।
डॉ० अम्बेडकर की चिंतन पृष्ठभूमि सत्याहिंसा पर आधृत थी, और लोकतांत्रिक इयत्ताओँ एवं मर्यादाओं की संपोषक थी । यथार्थत: डॉ० अम्बेडकर एक ऐसी वैचारिक संस्था के रूप में सामने जाए जिससे लोकतंत्र की सहज प्रवृत्तियों की विविध धाराएं प्रस्फुटित होकर विकसित होती है और एक प्राणवान् तथा उदात्त समाज की संस्थापना करती हुई मांगलिक धर्म, अर्थ व काम नीति की त्रिवेणी के रूप में निर्बाध प्रवाहित होती हैं । इस ग्रंथ में इन्हीं मूल्यवान और सहजीवनीय अंतर्वत्तियों के संयोजन का दिशा-निर्देश प्राप्त करने का एक मिला-जुला प्रयास है जो महात्मा बुद्ध से डॉ० अम्बेडकर तक एक अबाध ज्योति-धारा के रूप में सहज सामने आया है ।

Rajendra Mohan Bhatnagar

राजेन्द्रमोहन भटनागर
प्रख्यात साहित्यकार, विचारक और शिक्षाविद डॉ. राजेन्द्रमोहन भटनागर डॉ० लोहिया के 'रामायण-मेले' से भी जुड़े रहे और उनकी पत्रिका 'जन' में भी छपते रहे । जे०पी० और लोहिया से उनके व्यक्तिगत संबंध रहे ।
प्रमुख प्रकाशित साहित्य : 'बाबा साहब अम्बेडकर', 'डॉ० लोहिया', 'क्रांतिकारी लोहिया', 'गोरादेवी' आदि (जीवनी) ० 'व्यावहारिक लोकतंत्र', 'स्वतंत्रता संग्राम की कहानी' (3 भाग), 'चुनौती', 'बहुएँ जल रही हैं', ‘बलात्कार क्यों', 'साम्यवाद का भारतीयकरण', 'गरीबी हटाओ', 'लोहिया का जीवन-दर्शन', 'डॉ० अम्बेडकर : चिंतन और विचार', 'छात्र-आंदोलन : समस्या और समाधान', 'दंगे क्यों', 'अब बहुएँ नहीं जलेंगी', शिक्षायतन', 'समता, स्वतंत्रता और समाज' आदि (विचार-साहित्य)
पुरस्कार : राष्ट्रीय तथा प्रांतीय स्तर पर अनेक पुरस्कार-राजस्थान साहित्य अकादमी का सर्वोच्च मीरा पुरस्कार और विशिष्ट साहित्यकार सम्मान, महाराणा कुंभा पुरस्कार, घनश्यामदास सराफ सर्वोत्तम साहित्य पुरस्कार, नाहर सम्मान, साहित्य पुरस्कार प्रभृति ।

Scroll