Dus Pratinidhi Kahaniyan : Nasera Sharma

Nasera Sharma

Availability: In stock

Seller: KGPBOOKS

Qty:
200.00 180 + Free Shipping


  • Year: 2013

  • Binding: Hardback

  • Publisher: Kitabghar Prakashan

  • ISBN No: 9788170166238

अपनी कहानियों में इंसानी पीड़ाओं के अहसास को जीवंत अभिव्यक्ति प्रदान करने वाली लेखिका नासिरा शर्मा जीवन के विविध कार्य एवं अनुभव-क्षेत्रों से विषय अर्जित करके, रचाव की संपूर्ण प्रयोगनिपुणता के साथ रचना प्रस्तुत करती हैं । कथा-संसार की यह विविधता जहाँ उनके पाठकों के लिए उपहार-सम है यहीं आलोचकों-समीक्षकों के लिए एक चुनौती भी-कि ऐसे में उन्हें किस कद-पद का कहानीकार मान्य किया जाए ? विगत छवि की निर्मिति-भंजन का काम वे स्वयं अपनी प्रत्येक नई रचना में करती प्रतीत होती हैं तथा इस प्रकार पाठक की ताजा आश्वस्ति भी पाती हैं ।
इन कहानियों में नासिरा शर्मा इंसानी देह-नेह की आदिम इच्छाओं की विचारणाओं के साथा-साथ राष्ट्र, इतिहास, धर्म और प्रकृति की अभिव्यक्ति के पर्यावरण से भी संबोधित हैं । जन की कथाओं की व्यापक परिधि पर जड़ित ये कहानियाँ संपूर्ण मानवीय प्रवृति की संस्कृति और उसकी रसभंगता को पाठकों के सामने रखती हैं। नवरसों को समान कूतित्व देती ये कहानियाँ कालांतर में हमारे मनो-मस्तिष्क से उड़ नहीं जाती, बल्कि यहीं अपनी स्मृति का स्थान निर्धारित कर लेती है ।
नासिरा शर्मा द्वारा स्वयं चुनी गई 'दस प्रतिनिधि कहानियाँ' हैं-'जोड़ा', 'बावली', 'कशीदाकारी', 'पाँचवाँ बेटा', 'दूसरा ताजमहल', 'आमोख़्ता', 'तीसरा मोर्चा', ‘मिस्टर ब्राउनी', 'अपनी कोख' तथा 'चार बहनें शीशमहल की' ।
हमें विश्वास है कि इस सीरीज़ के माध्यम से पाठक सुविख्यात लेखिका नासिरा शर्मा की प्रतिनिधि कहानियों को एक ही जिल्द में पाकर सुखद संतोष का अनुभव करेंगे ।

Nasera Sharma

नासिरा शर्मा
जन्म : 1948, इलाहाबाद
फारसी भाषा-साहित्य में एम०ए० हिंदी, उर्दू फारसी, पश्तो, अंग्रेजी पर गहरी पकड़।ईरानी समाज और राजनीति के अतिरिक्त साहित्य, कला व संस्कृति विषयों की विशेषज्ञ। इराक, अफगानिस्तान, पाकिस्तान, ईरान तथा भारत के राजनीतिज्ञों तथा प्रसिद्ध बुद्धिजीवियों के साथ साक्षात्कार किए, जो बहुचर्चित हुए। ईरानी युद्धबंदियों पर जर्मन व फ्रेंच टेलीविजन के लिए बनी फिल्म में महत्त्वपूर्ण योगदान।
प्रकाशित कृतियां  : 'सात नदियां एक समंदर', 'शाल्मली', ‘ठीकरे की मंगनी', 'जिंदा-मुहावरे', 'अक्षयवट', 'बूँद' (उपन्यास) ० 'शामी काग़ज़', 'पत्थरगली', 'संगसार', 'इब्ने मरियम', 'सबीना के चालीस चोर', 'खुदा की वापसी', 'इंसानी नस्ल', 'दूसरा ताजमहल', 'बुतखाना', 'गूँगा आसमान', 'शीर्ष कहानियाँ' (कहानी-संग्रह) ० 'किताब के बहाने', 'औरत के लिए औरत', 'राष्ट्र और मुसलमान' (लेख-संग्रह) ०  'जहाँ फौव्वारे लहू रोते हैं' (रिपोर्ताज़) ०  'अफगानिस्तान : बुज़कशी मैदान' (दो खडों में), 'मरजीना का देश : इराक', (इलाकाई अध्ययन) ० 'शाहनामा-ए-फिरदौसी', 'गुलिस्तान-ए-सादी', 'बर्निंग पयार', 'इकोज़ ऑफ  ईरानियन  रेवोल्यूशन : प्रोटेस्ट पोयट्री', 'किस्सा जाम का', 'काली छोटी मछली', 'आवारा कुत्ता (अनुवाद) ० 'दहलीज़', 'सबीना के चालीस चोर’, (नाटक) ० 'वापसी', 'सरज़मीन', 'बदला जमाना', 'शाल्मली' (सीरियल) ० 'मां', 'तड़प', 'आया बसंत सखी', 'काली मोहिनी', 'सेमल दरख्त', 'बावली' (टी०वी० फिल्म) ० 'पढ़ने का हक', 'सच्ची सहेली', 'गिलोबी', 'धन्यवाद ! धन्यवाद !' (साक्षरता) ० 'संसार अपने-अपने' (बाल-साहित्य) ० 'सारिका', 'पुनश्च' का ईरानी क्रांति विशेषांक (संयोजन एवं अनुवाद)

Scroll