Raag Viraag

Shree Lal Shukla

Availability: In stock

Seller: KGPBOOKS

Qty:
150.00 135 + Free Shipping


  • Year: 2017

  • Binding: Hardback

  • Publisher: Kitabghar Prakashan

  • ISBN No: 9788170165200

Shree Lal Shukla

श्रीलाल शुक्ल

जन्म : 31 दिसंबर, 1925 में लखनऊ जिले के अतरौली गांव में ।

इलाहाबाद विश्वविद्यालय से स्नातक । भारतीय प्रशासनिक सेवा से अवकाश पाकर अब न्यायी रूप से लखनऊ में रह रहे हैं।
अनेक उपन्यासों, कहानियों, व्यंग्य-रचनाओं, निबंधों आदि के ख्यातिप्राप्त लेखक । उपन्यास 'राग दरबारी' के लिए 1969 में साहित्य अकादेमी पुरस्कार समेत अनेक साहित्यिक पुरस्कारों से सम्मानित ।
प्रमुख कृतियाँ  :- उपन्यास : सूनी घाटी का सूरज, अज्ञातवास, राग दरबारी, आदमी का ज़हर, सीमाएं टूटती हैं, मकान, पहला पड़ाव, बिस्रामपुर का संत ० कहानी-संग्रह : सुरक्षा तथा अन्य कहानियां ० निबंध और टिप्पणियाँ : अगली शताब्दी का शहर, यह घर मेरा नहीं ० भेंटवार्ता : मेरे साक्षात्कार० हास्य-व्यंग्य : अंगद का गांव, यहाँ से यहीं, कुछ जमीन पर, कुछ क्या से, उमराव नगर में कुछ दिन, आओ बैठ लें कुछ देर ० बाल-उपन्यास : बब्बरसिंह और उसके साथी

स्मृति-शेष : 28 अक्टूबर, 2011

Scroll