Prerana Dene Wale

Ishan Mahesh

Availability: In stock

Seller: KGPBOOKS

Qty:
120.00 108 + Free Shipping


  • Year: 2014

  • Binding: Hardback

  • Publisher: Arya Prakashan Mandal

  • ISBN No: 9788188123285

प्रेरणा देने वाले
ईशान महेश बड़े, सचेत और संचेत्य
व्यक्ति हैं, तनिक भी किसी से कुछ
उनके पत्र का उत्तर न देने की
या उनका समय व्यर्थ
करने की कोई भूल हुई,
उन्हें बड़ी चोट पहुँचती है । 
ऐसा मन ही गूंगी पर
संवेदनशील प्रकृति का मर्म
भली-भाँति समझता है ।
मुझे उनको रचना आद्योपांत 
पढकर अच्छा लगा ।
किशोर मन इससे उत्साहित
होगा और उसी के उत्साहित
होने से आज्ञा भी है ।"
-पं ० विद्यानिवास मिश्र

Ishan Mahesh

ईशान महेश
युवा साहित्यकार ईशान महेश का जन्म 11 अप्रैल, 1968 को दिल्ली में हुआ । इनका लेखकीय जीवन हिंदी के वरिष्ट साहित्यकार डॉ० नरेन्द्र कोहली के मार्गदर्शन में सन् 1987 से प्रारंभ हुआ । नरेन्द्र कोहली ने न केवल ईशान महेश के लेखकीय पक्ष को निखारा, वरन् सदूगुरु के रूप में उन्हें आध्यात्मिक पथ पर भी अग्रसर किया- अर्थात् इनकी शिक्षा और दीक्षा के आरंभिक चरण के पूर्ण होने का समस्त श्रेय नरेन्द्र कोहली को जाता है ।
अपनी आज तक की यात्रा में इनकी नौ पुस्तकें प्रकाशित हो चुकी हैं तथा देश के विभिन्न प्रतिष्ठित एवं अप्रतिष्ठित समाचार-पत्र-पचिकाओँ में इनका साहित्य समय-समय पर प्रकाशित होता रहता है । वर्तमान में यह डी०ए०वी० स्कूल, शालीमार बाग, दिल्ली में हिंदी अध्यापक की भूमिका निभा रहे हैं ।
प्रकाशित रचनाएँ
पुनर्विवाह ०  हलचल (पर्यावरण पऱ आधृत) ० सूजन साधना ०  Turbulence ('हलचल' का अंग्रेजी संस्करण) (उपन्यास); जनता फ्लैट (नाटक) ; सरे-आम ० हाय, पैसा हाय । (व्यंग्य); पवित्र उत्तर ० शरारत का फल (बाल- कहानी-संग्रह) ; नंरेन्द्र क्रोहली ने कहा (सूक्ति एवं संचयन)

Scroll