Ek Bhaasha Huaa Karati Hai

Uday Prakash

Availability: In stock

Seller: KGPBOOKS

Qty:
140.00 126 + Free Shipping


  • Year: 2011

  • Binding: Hardback

  • Publisher: Kitabghar Prakashan

  • ISBN No: 9789380146003

हमारे भागते-दौड़ते कठिन और तेज़ समय में जब बहुत कुछ हाशिये पर जा रहा है, जिसे पहले ज़रूरी समझा जाता था, क्या कविता के लिए कोई जगह, कोई काम बचे हैं? उदय प्रकाश की कविता के केंद्र में यही चिंता है। उनके यहाँ ‘अब हर बार हारा हुआ यह माथा है/अकेला अपनी आत्मा से लाचारी के साथ क्षमा माँगता हुआ’ और यह तीखा अहसास भी कि ‘अपनी ही भाषा और अपने ही लोकतंत्र के भीतर/हम अबुगरेब के कै़दी’ हैं। इस दुनिया में ‘कविता का एक वाक्य लिखने में दो मिनट लगते हैं/ इतनी देर में चालीस हज़ार बच्चे मर चुके होते हैं/ ज़्यादातर तीसरी दुनिया के भूख और रोग से’। ऐसी दुनिया और समय में कविता का काम मानवीय अंतःकरण को संक्षिप्त होने से बचाना, जो हो रहा है उसे खुली आँखों देखना और इस समय पर अंतःकरण की ओर से चैकसी करना है। कविता याद दिलाती है कि ‘यह एक लुटेरा अपराधी समय है/जो जितना लुटेरा है, वह उतना ही चमक रहा है और गूँज रहा है/हमारे पास सिर्फ़ अपनी आत्मा की आँच है और थोड़ा-सा नागरिक अंधकार/कुछ शब्द हैं जो अभी तक जीवन का विश्वास दिलाते हैं’। ‘आत्मा की आँच’, ‘थोड़ा-सा नागरिक अंधकार’ और ‘कुछ शब्द’ आज कविता का यही शास्त्र संभव है।

Uday Prakash

उदय प्रकाश
जन्म : 1952, मध्य प्रदेश के शहडोल (अब अनूपपुर) जिले के गाँव सीतापुर में ।
शिक्षा : सागर वि०वि०, सागर और जवाहरलाल नेहरू वि०वि०, नई दिल्ली में ।
कृतियाँ : 'सुनो कारीगर', 'अबूतर-कबूतर', 'रात में हारमोनियम', 'एक भाषा हुआ करती है" (कविता/संग्रह) । 'दरियाई घोड़ा', 'तिरिछी', 'और अंत से प्रार्थना', 'पॉल गोमरा का स्कूटर', 'पीली छतरी वाली लड़की', 'दत्तात्रेय के दु:ख', 'मोहन दास', 'अरेबा परेबा', 'मैंगोसिल' (कहानी-संग्रह) । 'ईश्वर की आँख', 'अपनी उनकी बात' और 'नई सदी का पंचतंत्र' (निबंध, आलोचना, साक्षात्कारों का संकलन) ।
अनुवाद : 'लाल बास पर नीले घोड़े', (मिखाइल शात्रोव के  नाटक का अनुवाद और रूपांतर), 'कला अनुभव' (प्रो० हरियन्ना की सौंदर्यशास्त्री पुस्तक का अनुवाद), 'इंदिरा गांधी की आखिरी लड़ाई', (बी०बी०सी० संवाददाता मार्क टली-सतीश जैकब की किताब का हिंदी अनुवाद), 'रोम्या रोला का भारत' (आंशिक अनुवाद और संपादन) ।
पुरस्कार : भारत भूषण अग्रवाल पुरस्कार (1980), ओमप्रकाश साहित्य सम्मान (1982), श्रीकांत वर्मा स्मृति पुरस्कार (1992), मुक्तिबोध पुरस्कार (1996), साहित्यकार सम्मान, हिंदी अकादमी, दिल्ली, (1999), रामकृष्ण जयदयाल सद्भावना सम्मान, (1997), पहल सम्मान (2003), कथाक्रम सम्मान (2005), पुश्किन  सम्मान (2006), द्विजदेव सम्मान (2006-07), वनमाली सामान (2008) ।

Scroll