Kavi Ne Kaha : Ibbar Rabbi (Paperback)

Ibaar Rabbi

Availability: In stock

Seller: KGPBOOKS

Qty:
90 + Free Shipping


  • Year: 2012

  • Binding: Paperback

  • Publisher: Kitabghar Prakashan

  • ISBN No: 978-93-81467-18-0

कवि ने कहा : इब्बार रब्बी
बचपन में महाभारत और प्रेमचंद होने का भ्रम, किशोर अवस्था में छंदों की कुंज गली में भटकने का भ्रम, फिर व्यक्तिवाद की दलदल में डुबकियां । लगातार भ्रमों और कल्पना-लोक में जीने का स्वभाव । क्या आज भी किसी स्वप्न-लोक के नए मायालोक में ही खड़ा हूं? यह मेरा नया भ्रम है या विचार और रचनात्मकता की विकास-यात्रा? क्या  पता । कितनी बार बदलूं।
नया सपना है शमशेर और नागार्जुन दोनों  महाकवियों का महामिलन । इनकी काव्यदृष्टि और रचनात्मकता एक ही जगह संभव कर पाऊं । जटिल और सरल का समन्वय, कला और इतिवृत्तात्पकता एक साथ । ध्वनि का अभिधा के साथ पाणिग्रहण ।  नीम की छांह में उगे पीले गुलाबों की खुशबू से नाए रसायन, नए रंग और नई गंध जन्म लें । गुलाबों की शफ्फाक नभ-सी क्यारी में बीजों-सी दबी निबोलियां । इस नई मिट्टी और खाद से उगने वाले फूल, लताएं और वनस्पतियां बनें मेरी कविता ।

Ibaar Rabbi

इब्बार रब्बी
जन्म : 2 मार्च, 1941, अलीगढ़ (उ०प्र०) ।
शिक्षा : पुस्तकालय और प्रेस आदि में नौकरियां करते हुए आगरा विश्वविद्यालय से हिंदी में एम०ए० (1961), कार्डिफ (ब्रिटेन) से पत्रकारिता में डिप्लोमा (1971) ।
रोजगार : 'सरिता' मासिक में नौकरी । 1961 से 1963 तक नई दिल्ली में अध्यापन । 1964 में पुन: 'सरिता' में । 1965 से 2001 तक "नवभारत टाइम्स', दिल्ली में फीचर संपादक और पत्रिका संपादक आदि । 'उ०प्र० संस्करण' और 'सांध्य टाइम्स' दैनिक निकाला । 1990 में पटना में समाचार संपादक । कथा मासिक 'हंस' और समाचार साप्ताहिक हिंदी 'आउटलुक' में भी रहे । रघुवीर सहाय, श्रीकांत वर्मा, सर्वेश्वर दयाल सक्सेना, मनोहर श्याम जोशी, अज्ञेय, राजेन्द्र माथुर, सुरेन्द्र प्रताप सिंह और राजेन्द्र यादव के साथ काम क्रिया ।
प्रकाशित कृतियां : 'खांसती हुई नदी' (1969), 'घोषणा पत्र' (1981), 'लोगबाग' (1985), 'वर्षा में पीसकर' (2000) (कविता-संकलन) ।
अनुवाद : वेनिस विश्वविद्यालय में कविताओं पर शोध । इटालियन से अनुवाद (1987), पाकिस्तानी पत्रिका 'आज' में उर्दू अनुवाद (1993), जापानी में अनुवाद ( 2007) ।
सम्मान : हिंदी अकादमी का साहित्यकार सम्मान (1998-99), विजयदेवनारायण साही पुरस्कार (2000), शमशेर सम्मान (2006) ।

Scroll